मंगलवार, 22 मार्च 2011

'राखी का इन्साफ' इंदौर में होगा....

"ड्रामा क्वीन" के नाम से मशहूर राखी सावंत की मेजबानी वाले रियलिटी टीवी शो ‘राखी का इन्साफ’ में पिछले साल कथित अभद्र टिप्पणियों के खिलाफ दायर याचिका पर एक स्थानीय अदालत में जारी सुनवाई में सोमवार को नया मोड़ आ गया।

याचिकाकर्ता ने अपने आरोपों के समर्थन में अदालत में सूचना और प्रसारण मंत्रालय का एक पत्र पेश किया तथा राखी समेत रियलिटी शो से जुड़े चार लोगों पर मुकदमा चलाये जाने की गुहार की।

शहर के वकील किशन कुन्हारे ने बताया कि उनके मुवक्किल किशोर मरमट ने ‘राखी के इन्साफ’ में हुई अभद्र टिप्पणियों को लेकर अदालत में गत नवंबर में याचिका दायर की थी। साथ ही प्रधानमंत्री कार्यालय को भी इस कार्यक्रम की शिकायत की थी। उनकी शिकायत के संबंध में सूचना और प्रसारण मंत्रालय का एक पत्र मिला है।

उनके मुताबिक इस पत्र में बताया गया है कि 'राखी का इन्साफ' के खिलाफ मिली शिकायतों का संज्ञान लेते हुए मंत्रालय इमैजिन टीवी चैनल को इस रियलिटी शो का प्रसारण रात 11 बजे के बाद करने और इसकी विषयवस्तु को तय मापदंडों के मुताबिक ढालने के निर्देश पहले ही दे चुका है।

कुन्हारे ने बताया कि प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट भूपेंद्र नकवाल की अदालत में याचिका पर सुनवाई के दौरान सूचना और प्रसारण मंत्रालय के इस पत्र को पेश किया गया तथा राखी समेत कार्यक्रम से जुड़े चार लोगों पर संबद्ध धाराओं में मुकदमा चलाये जाने की गुहार की गई।

याचिकाकर्ता का आरोप है कि राखी के धारावाहिक में अदालती प्रक्रिया की भौंडी नकल और अभद्र टिप्पणियाँ की गईं, जिससे ‘न्याय की देवी’ पर आस्था रखने वाले उन जैसे कई लोगों की भावनाएँ आहत हुईं। अदालत ने याचिका पर अगली सुनवाई के लिए 20 अप्रैल की तारीख तय की है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ब्लॉग प्रस्तुति