गुरुवार, 20 जनवरी 2011

बिहार, छत्तीसगढ़ को फिर नहीं मिली केंद्रीय मंत्रिपरिषद में जगह

केंद्रीय मंत्रिपरिषद में बुधवार को विस्तार और फेरबदल के बाद •ाी कुछ राज्य केन्द्र सरकार में प्रतिनिधित्व से अछूते बने हुए हैं। ऐसे राज्यों में प्रमुख रूप से बिहार, छत्तीसगढ़ और गोवा शामिल हैं। पूर्वोत्तर से असम और मेघालय को छोड़कर शेष राज्यों का सरकार में प्रतिनिधित्व नहीं है। बुधवार को हुए फेरबदल में केवल तीन नये नाम मंत्रिमंडल में शामिल हुए हैं। इनमें उत्तर प्रदेश से बेनी प्रसाद वर्मा को इस्पात राज्य मंत्री-स्वतंत्र प्र•ाार बनाया गया है। पंजाब से राज्यस•ाा सदस्य अश्विनी कुमार तथा केरल से सांसद केसी वेणुगोपाल राज्यमंत्री होंगे। इस तरह दो बड़े राज्य बिहार और छत्तीसगढ़ के अलावा गोवा तथा पूर्तोत्तर के अरुणाचल प्रदेश, मणिपुर, मिजोरम, नगालैंड, सिक्किम और त्रिपुरा सत्ता से दूर बने हुए हैं। हालांकि बिहार में सत्तारूढ़ कांग्रेस के केवल दो सांसद हैं जिनमें से सासाराम से सांसद मीरा कुमार लोकस•ाा अध्यक्ष हैं। इसी तरह छत्तीसगढ़ में •ाी केवल चरण दास महंत ही सत्तारूढ़ पार्टी के नुमांइदे हैं लेकिन इस बार की फेरबदल में महंत को शामिल नहीं किया गया है। गोवा में •ाी कुल दो सांसदों में से एक कांग्रेस से है। अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर में स•ाी दो-दो सांसद और मिजोरम में एक प्रतिनिधि कांग्रेस के ही हैं लेकिन अ•ाी कोई सरकार में नहीं पहुंचा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ब्लॉग प्रस्तुति