रविवार, 30 जनवरी 2011

सबसे ज्यादा प्लानर डायरी खरीद


शेखर झा
कुछ साल पहले लोगों का डायरी खरीदने के लिए काफी रुझान हुआ करता था मगर विगत कुछ सालों से लोगों का इसके लिए इंटरेस्ट कम हुआ है। कंप्यूटर, लेपटॉप, नोट पेड जैसे डिवाइस के चलते अब लोग डायरी खरीदना कम ही पसंद करते हैं। इसके बावजूद भी वर्तमान समय में लोगों के द्वारा डायरी की खरीदी की जा रही है। शहर की स्टेशनरी दुकानो में लॉ डायरी, डेली डयरी, नोट डायरी, फैंसी डायरी, फ्लावर डायरी, प्लानर डायरी, लॉक डायरी, डिजायनिंग डायरी आदि उपलब्ध हैं।
प्लानर डायरी की खरीदी ज्यादा
गोल बाजार स्थित नूरी स्टेशनरी दुकान के संचालक मोहम्मद साहिल बताते हैं कि लोगों के पास नोटपेड व लेपटॉप होने के बाद भी वो आज भी डायरी खरीदना पसंद करते हैं। आज भी लोग बड़ी व छोटी दोनों तरह की डायरी खरीदना पसंद करते हैं। आज भी लोगों को कुछ लिखना रहता है तो वो डायरी में ही नोट करना ज्यादा उचित समझते हैं। दुकानों में कई तरह की डायरी उपलब्ध हैं। लोग सबसे ज्यादा प्लानर डायरी खरीद रहे हैं। मार्केट में कम रेंज से लेकर हजार रुपए तक की डायरियां उपलब्ध हैं।
नोटपैड वाली डायरी
मालवीय रोड स्थित कुसमुद्दीन स्टेशनरी दुकान के संचालक रिजवी तनवीर ने बताया कि वर्तमान समय में कॉजेल के स्टूडेंट्स के द्वारा सबसे ज्यादा नोट पेड वाली डायरी की खरीदी की जाती है। इसके अलावा युवा वर्ग डायरी को अपने दोस्त के जन्मदिन पर या किसी अन्य अवसर पर इसे बतौर गिफ्ट देना पसंद करता है। वर्तमान समय में हमारी दुकान में लोगों के लिए कानूनी डायरी, पॉकेट डायरी, बटन डायरी, लॉक डायरी, सिम्पल डायरी, डिजाइनिंग डायरी, एक्जीक्यूटिव डायरी व अन्य प्रकार की डायरियां उपलब्ध हैं। वर्तमान समय में डायरी का यूज लिखने में कम और गिफ्ट देने में ज्यादा हो रहा है। टेलिफोन डायरी की डिमांड स्टूडेंट्स से लेकर आॅफिसर तक के पास है। मोबाइल में इतना इस्पेस नहीं होता है कि ज्यादा नम्बर सेव किए जाएं, इस कारण से भी अधिकांश लोग डायरी खरीदने में ही विश्वास करते हैं। इसलिए टेलीफोन डायरी को आज भी खरीदा जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ब्लॉग प्रस्तुति