शुक्रवार, 20 जनवरी 2012

ट्विनसिटी के क्लबों का कल्चर

ट्विनसिटी में क्लब कल्चर उफान पर है। बच्चों से लेकर बड़े तक सभी किसी न किसी क्लब से जुड़कर समाजसेवा से लेकर अपनी हॉबी को पूरा कर रहे हैं।
शेखर झा
इंसान हर पल और हर वक्त कुछ न कुछ नया जरूर सीखता है। कभी वह अपने बड़े से तो कभी अपने से छोटे से। ऐसा ही कुछ ट्विनसिटी के लोग सीख रहे हैं। यहां वुमन्स क्लब, हैपी क्लब, लाफिंग क्लब, डांस क्लब सहित अन्य कई क्लब है, जहां लोग एंजाय के साथ-साथ सोशल वर्क भी कर रहे हैं। लोगों का मानना है कि क्लब के माध्यम से बच्चों से लेकर बड़ों तक को प्लेटफार्म मिलता है। इतना ही नहीं अब तो अलग-अलग समाज में भी प्रतिभा को निखारने कई कार्यक्रम होने लगे हैं। क्लबों की ओर कभी डांस कंपीटिशन तो कभी समाजिक कार्य करने को लेकर कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। शहर में कई क्लब ऐसे हैं जो अपने कार्यों को लेकर सम्मानित भी हो चुके हैं। क्लब के सदस्यों का कहना है कि बच्चे पढ़ाई और महिलाएं अपने घरों के काम में व्यस्त होने के कारण कई बार अपनी प्रतिभा को निखारने से वंछित रह जाते हैं, ऐसे में अगर
वे किसी कार्यक्रम में हिस्सा लेते हैं तो न सिर्फ उन्हें पहचान मिलती है बल्कि नई चीजों की जानकारी भी मिलती है।
यूथ के लिए भी क्लब
ट्विनसिटी में वुमन्स क्लब्स के साथ साथ यूथ के लिए भी क्लब है। जिसमें स्कूल और कॉलेज के स्टूडेंट जुड़े हुए हैं, जो समय समय पर स्टूडेंट्स के लिए स्पर्धाओं का आयोजन करते हैं, ताकि स्कूल में रहते हुए स्टूडेंट्स को प्लेटफार्म मिल सके। फिर चाहे वह क्वीज कंपीटिशन हो या ड्राइंग, पेटिंग या फिर स्टेज परफार्मेंस।
हंसने के लिए बना क्लब
लाफिंग क्लब के अध्यक्ष त्रयम्बक शर्मा ने बताया कि पंद्रह साल पहले उन्होंने अपने दोस्त के साथ मिलकर लाफिंग क्लब की शुरुआत की। क्लब का उद्देश्य यह है कि लोगों को हर समय हंसते हुए देखना। वे कहते हैं कि बिजी लाइफ में लोगों को अलावा टेंशन के कुछ नहीं मिलता, इसलिए उन्होंने केवल हंसने के लिए क्लब बनाया। क्लब में पहले उन्होंने कार्टून के माध्यम से लोगों को हंसाने का काम किया अब यह क्लब साल में एक बार शहर के लोगों को हंसाने के लिए बड़े पेमाने पर कार्यक्रम आयोजित करता है। क्लब के कार्य को देखकर २००८ में सम्मानित भी किया जा चुका है। इतना ही नहीं क्लब में देश के बाहर के लोग भी बतौर सदस्य शामिल है।
तुरंत मदद को तैयार
लायंस क्लब भिलाई के अध्यक्ष विपिन बंसल ने बताया कि ट्विनसिटी में ऐसी कई संस्था हैं जो सांस्कृतिक कार्यक्रम, गेम व अन्य स्पर्धाओं का आयोजन करते आ रहे हैं। उन्होंने बताया कि लायंस क्लब भी सांस्कृतिक कार्यक्रम, बच्चों व महिलाओं के लिए विभिन्न स्पर्धाओं का समय समय पर आयोजन करता है, लेकिन यह संस्था सभी संस्थाओं से हट कर कुछ अन्य काम भी करती है और वह है तुरंत मदद करो। इस अभियान के तहत संस्था के लोग कमजोर व असहाय लोगों के साथ सड़क दुघर्टना के वक्त मदद, रक्तदान जैसे कार्य तत्काल करते हैं ताकि प्रभावितों को तुंरत उपचार के साथ लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि कई बार सड़क दुघर्टना में घायल लोगों को मदद न मिल पाने के कारण अपनी जान गंवानी पड़ती है। उन्होंने बताया कि जब से यह अभियान शुरू हुआ है तब से यह संस्था कई लोगों की मदद कर चुकी है।
दिया हाथों को काम
नूतन संगवारी महिला जन कल्याण समिति पिछले ७ सालों से कमजोर व असहाय महिलाओं के लिए रोजगार दिलाने का काम कर रही है। समिति की अध्यक्ष अनिता अग्रवाल ने बताया कि वर्तमान समय में कम पढ़ी-लिखी महिलाओं को रोजगार नहीं मिल पाता है, ऐसे में समिति ने २२ से २५ महिलाओं को भिलाई-दुर्ग में रोजगार दिया है। उन्होंने कहा कि समिति का उद्देश्य ही यही है कि जिन लोगों को रोजगार नहीं मिल पाता है उनकी मदद करना। समिति की ओर से कामकाजी महिलाओं के मनोरंजन के लिए सांस्कृतिक व विभिन्न स्पर्धाओं का आयोजन किया जाता है। ताकि महिलाओं को काम के बीच में भी एंजाय करने का मौका मिल सकें।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ब्लॉग प्रस्तुति